रिलायंस अब ई-कामर्स के क्षेत्र में भी अपना दबदबा बना रही है

देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी रिलायंस जिओ अब ई-कॉमर्स के क्षेत्र में भी अपना कदम रख चुकी है। अमेजॉन और फ्लिपकार्ट जैसी ई-कॉमर्स कंपनियों को चुनौती देने के लिए रिलायंस अपने ई-कॉमर्स वेंचर जिओ मार्ट जिसे ‘देश की नई दुकान’ नाम दिया गया है, सबसे पहले नवी मुंबई, ठाणे और कल्याण क्षेत्र के ऑनलाइन शॉपर्स के लिए लांच करने के साथ अब पूरे 200 शहरों में लांच कर चुकी है। जल्द ही जिओ टेलीकॉम सर्विस की तरह जियो मार्ट भी पूरे देश में पांव पसार लेगी।

रिलायंस सबसे बड़ा ऑनलाइन-टू-ऑफलाइन  ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म बनाने के लिए काम कर रही है। शुरुआती दौर में 15000 किराना स्टोर को डिजिटलाइज किया जाएगा। रिलायंस अपने 4G नेटवर्क के जरिए कस्टमर्स को किराना स्टोर से जोड़ेगी जिससे  ग्राहक घर बैठे सेवा का लाभ ले सकेंगे। किराना स्टोर को ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म से जोड़ने के लिए रिलायंस जल्द ही स्टोरों में पॉइंट टू सेल (POS) मशीन शुरू करेगी। विदित हो कि रिलायंस अपने  जिओ मार्ट के जरिए सभी प्रकार की वस्तुएं फैशन से लेकर फूड और इलेक्ट्रॉनिक एवं फाइनेंशियल सर्विसेज तक फ्री होम डिलीवरी की सेवा के साथ उपलब्ध करायेगी।

एक सर्वे के अनुसार, 2024 तक में भारत का ई-कॉमर्स बिजनेस लगभग 99 अरब डॉलर का हो जाएगा तथा 27 फ़ीसदी की कंपाउंड एनुअल ग्रोथ रेट से बढ़ेगा।

ब्रोकर हाउस गोल्डैन-सैक्स ने अपनी रिपोर्ट ग्लोबल इंटरनेट ई-कॉमर्स स्टीपनिंग में बताया है कि ऑनलाइन रिटेल सॉपिंग 2024 तक 10.7 फ़ीसदी हो जाएगी जो कि 2019 में 4.7 फीसदी  थी। भारत में ग्रॉसरी कैटेगरी का मार्केट 2019 तक में 380 अरब डॉलर का था, जो कि पूरे रिटेल मार्केट का 7.60 फीसदी था। इसमें ऑनलाइन ग्रॉसरी मार्केट की हिस्सेदारी 0.5 फीसद से भी कम है जिससे यह प्रतीत होता है कि सका भविष्य काफी सुनहरा होगा।

लेखकः
कैलाश कुमार
पूर्ववर्ती छात्र,अर्थशास्त्र विभाग 
पटना विश्वविद्यालय 

Leave a Reply

Your email address will not be published.